Raag Yaman Ka Parichay

Raag Yaman Ka Parichay राग यमन

राग यमन हिन्दुस्तानी संगीत में एक महत्वपूर्ण और प्रचलित राग है. इस राग की उत्पति कल्याण थाट से हुई है और इसे शाम के समय में गाया जाता है। इस राग में माँ तीव्र होता है और अन्य सभी स्वर शुद्ध होते हैं। इस राग में ग वादी तथा नी संवादी माना जाता है।

हिंदी फिल्मों के कई मशहूर गाने जैसे चन्दन सा बदन, आये हो मेरी ज़िन्दगी में, जब दीप जले आना इत्यादि राग यमन के सुरों पर कंपोज़ किये गए हैं। राग यमन का प्रयोग फ़िल्मी गानों , ग़ज़ल, भजन इत्यादि में खूब होता आया है। ये राग जितना पहले प्रचलित था आज भी उतना ही प्रचलित और ताज़ा है।

राग यमन के सरगम नोट्स (raag yaman sargam notes) इस प्रकार हैं।

raag yaman aaroh avroh | raag yaman notes in hindi

आरोहसा रे ग म’ (तीव्र) प ध नी सा’
अवरोहसा’ नी ध प म'(तीव्र) ग रे सा
पकड़नी रे ग, ग म’ प, म’ ग रे सा
वादी
संवादी नी
जाती सम्पूर्ण
गायन का समयसंध्या समय / रात्रि का पहला प्रहर
Raag Yaman in Hindi

Raag Yaman Bollywood Songs | Raag Yaman Bhajan List

  • चन्दन सा बदन ( सरस्वतीचंद्र )
  • बड़ा दुःख दीना तेरे लखन ने ( राम लखन )
  • जब दीप जले आना ( चितचोर )
  • आये हो मेरी ज़िन्दगी में ( राजा हिन्दुस्तानी )

Conclusion

आज आपने राग यमन के बारे में जाना। संगीत सीखने के लिए हमें सब्सक्राइब करें तथा हमारे YouTube विडियो देखने के लिए हमारे चैनल पर जायें। कृपया इस आर्टिकल को सोशल मीडिया जैसे Facebook, Instagram और Famenest पर शेयर करें।

ये भी पढ़ें

गायक कैसे बनें

अलंकार का रियाज़ कैसे करें

1 thought on “Raag Yaman Ka Parichay राग यमन”

  1. Pingback: थाट किसे कहते हैं What is Thaat in Music - Famenest School

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Newsletter Signup

Subscribe to our newsletter below and never miss the latest music lessons.