Kharaj Ka Riyaz Kaise Kare

Kharaj Ka Riyaz Kaise Kare खरज का रियाज़

अगर आप संगीत सीखना चाहते हैं तो आपको कई प्रकार के रियाज़ करने होते हैं. इन्ही में से एक है खरज का रियाज़ जिसे हर सिंगर को ज़रूर करना चाहिए. इस अध्याय में हम सीखेंगे की खरज का रियाज़ कैसे करते हैं, इसके क्या फायदे हैं और इसे कितने समय तक करना चाहिए.

हारमोनियम में आमतौर पर ३ सप्तक होते हैं जिसे मंद्र सप्तक, मध्यम सप्तक और तार सप्तक कहते हैं. मंद्र सप्तक का रियाज़ ही खरज का रियाज़ कहलाता है. अगर आप संगीत में बिलकुल नए हैं तो आप हमारा स्वर परिचय के ऊपर ये आर्टिकल पढ़ सकते हैं.

खरज का रियाज़ | Kharaj Ka Riyaz

सा

सा .नि सा

सा .नि .ध .नि सा

सा .नि .ध .प .ध .नि सा

सा .नि .ध .प .म .प .ध .नि सा

सा .नि .ध .प .म .ग .म .प .ध .नि सा

सा .नि .ध .प .म .ग .रे .ग .म .प .ध .नि सा

सा .नि .ध .प .म .ग .रे सा .रे .ग .म .प .ध .नि सा

खरज के रियाज़ में आपको सा से ऊपर जाने की बजाय सा से नीचे के स्वरों का रियाज़ करना है. आप ऊपर दिए विडियो की सहायता से आसानी से खरज का रियाज़ सीख सकते हैं.

खरज का रियाज़ करने का समय

खरज का रियाज़ सुबह में करना चाहिए. आप जितना जल्दी इसका रियाज़ करेगे आपको उतना ही ज्यादा फायदा होगा. अगर संभव हो तो ब्रह्म मुहूर्त में इसका रियाज़ करें अन्यथा आप जितनी जल्दी संभव हो सके सुबह में इसका रियाज़ करें.

खरज का रियाज़ करने के फायदे

खरज का रियाज़ करने से आवाज़ स्थिर होती है, आवाज़ में कम्पन कम होता है, आवाज़ की मधुरता, ठहराव, रेंज, हरकत में सुधार होता है. इसके अलावा आपको गाते समय आवाज़ में अच्छा बल मिलता है, आवाज़ का लेवल भी बढ़ता है और आवाज़ बुलंद होती है.

हमारे विडियो देखने के लिए हमारा YouTube Channel सब्सक्राइब करें.

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Newsletter Signup

Subscribe to our newsletter below and never miss the latest music lessons.