Raag

राग शिवरंजनी

Raag Shivranjani राग शिवरंजनी

राग शिवरंजनी हिन्दुस्तानी संगीत के सर्वश्रेष्ठ रागों में से एक है। ये राग काफी थाट से उत्पन्न हुआ है, इसमें म और नि वर्जित हैं। इसका गायन समय अर्धरात्रि है। आरोह S R g P D S’ अवरोह S’ D P g R S; R ,D S पकड़ R g P, D P g R, …

Raag Shivranjani राग शिवरंजनी Read More »

raag kirwani

Raag kirwani राग किरवानी

राग किरवानी मूलतः कर्नाटक संगीत का राग है जिसे हिन्दुस्तानी संगीत में अपनाया गया है। इस राग का उपयोग वादन में ज्यादा होता है। ये राग चंचल प्रकृति का है इस वजह से इसमे ठुमरी ज्यादा बनती हैं। इस राग का उपयोग बहुत सारे फ़िल्मी गानों में भी हुआ है। आइये इस राग के बारे …

Raag kirwani राग किरवानी Read More »

Raag Maalkauns Parichay

Raag Maalkauns Parichay राग मालकौंस

स्वागत है आपका फेमनेस्ट स्कूल में. आज आप राग मालकौंस के बारे में जानेंगे राग मालकोश हिंदुस्तानी शास्त्रीय संगीत का एक प्रचलित राग है यह राग भैरवी थाट से उत्पन्न हुआ है. राग मालकौंस को दक्षिण भारत में हिंडोलम कह के पुकारा जाता है. राग मालकौंस में गंधार, धैवत और निषाद तीनों स्वर कोमल लगते …

Raag Maalkauns Parichay राग मालकौंस Read More »

Raag Bhupali Ka Parichay

राग भूपाली Raag Bhupali Ka Parichay

राग भूपाली हिन्दुस्तानी संगीत के प्रमुख रागों में से एक है. कई राग भूपाली के गाने बहुत मशहूर हुए हैं इसकें अलावा राग भूपाली में भजन भी बनाये गए हैं. तो चलिए अब जान लेते हैं की इस राग की क्या विशेषताएं हैं और ये राग किस थाट से उत्पन्न हुआ है. अगर आप ये …

राग भूपाली Raag Bhupali Ka Parichay Read More »

raag bhairavi

Raag Bhairavi भैरवी राग का परिचय

राग भैरवी सुबह में गाये जाने रागों में एक प्रमुख राग है. ये राग भैरवी थाट से उत्पन्न हुआ है और इसको सुबह के समय गाया जाता है. राग भैरवी भजन में काफी प्रयोग होता है. राग भैरवी के गाने आपको अक्सर फिल्मों में भी सुनने के लिए मिलते हैं. Raag Bhairavi In Hindi | …

Raag Bhairavi भैरवी राग का परिचय Read More »

Raag Darbari in hindi

Raag Darbari | राग दरबारी आरोह अवरोह

राग दरबारी हिन्दुस्तानी शाष्त्रीय संगीत के प्रचलित रागों में से एक है. इस राग का प्रयोग फ़िल्मी गानों, भजनों और नॉन फ़िल्मी गानों में खूब होता आया है. आइये इस अध्याय में हम जानते हैं की राग दरबारी के आरोह अवरोह क्या हैं, इसे गाने का समय क्या है और इस राग की अन्य विशेषताएं …

Raag Darbari | राग दरबारी आरोह अवरोह Read More »

Raag Marwa Aaroh Avroh, Bandish and Songs

ये राग मारवा थाट से उत्पन्न हुआ है. इसमें रे कोमल, म तीव्र और अन्य शुद्ध स्वर लगते हैं. इस राग में पंचम और शुद्ध म दोनों वर्जित होने के कारण इसे गाने के लिए तानपुरे को मंद्र निषाद से मिलाया जाता है. Marwa Raag Details आरोह ,नी रे (कोमल) ग म’ (तीव्र) ध नी …

Raag Marwa Aaroh Avroh, Bandish and Songs Read More »

Raag Yaman Ka Parichay

Raag Yaman Ka Parichay राग यमन

राग यमन हिन्दुस्तानी संगीत में एक महत्वपूर्ण और प्रचलित राग है. इस राग की उत्पति कल्याण थाट से हुई है और इसे शाम के समय में गाया जाता है। इस राग में माँ तीव्र होता है और अन्य सभी स्वर शुद्ध होते हैं। इस राग में ग वादी तथा नी संवादी माना जाता है। हिंदी …

Raag Yaman Ka Parichay राग यमन Read More »

Newsletter Signup

Subscribe to our newsletter below and never miss the latest music lessons.